Breaking News
Loading...

कुमाऊंनी मांगल गीत के बाद अब मैथिली ठाकुर ने गाया गढ़वाली मांगल गीत।

मैथिली ठाकुर गढ़वाली मांगल गीत दे द्यावा बाबा जी, कन्या को दान की प्रस्तुति देती हुई।
 

कुमाऊंनी सुवांल पथाई गीत सुवा रे सुवा बनखण्डी सुवा, जा सुवा घर-घर न्यूत दी आ के बाद मैथिली ठाकुर ने एक बार फिर उत्तराखंड के गढ़वाल अंचल का मांगल गीत दे द्यावा बाबा जी, कन्या को दान गाकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया है।  दिनांक 23 नवंबर को उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल और फेसबुक पेज से यह मांगल गीत सोशल मीडिया में जारी किया। जिसे अभी तक लाखों लोगों ने देखकर उनकी आवाज को सराहा है। हर प्रस्तुति की तरह इस बार भी उनके छोटे भाई ऋषभ ठाकुर एवं अयाची ठाकुर ने उनका साथ दिया है। 

मैथिली ठाकुर ने उत्तराखंड के कुमाऊँ अंचल का विवाहोत्सव निमंत्रण गीत सुवा रे सुवा बनखण्डी सुवा, जा सुवा घर-घर न्यूत दी आ गाकर सभी उत्तराखंड वासियों को आश्चर्यचकित कर दिया था, तब लोगों ने उन्हें गढ़वाली मांगल गीत गाने की पेशकश की थी। उन्होंने अपने प्रशंसकों को निराश नहीं किया और एक सुमधुर, वही पुरानी धुन में यह मांगल गीत गाया। उत्तराखंड वासियों ने उनके इन दोनों प्रस्तुतियों को सराहा है। भविष्य में भी इसी तरह उत्तराखंड के गीतों को गाते रहने की इच्छा जताई है।  

Click : मांगल गीत 'दे द्यावा बाबा जी कन्या कु दान' के बोल।

कौन हैं मैथिली ठाकुर :

बिहार की रहने वाली मैथिली ठाकुर एक उभरती गायिका हैं। जिन्होंने 2017 में राइजिंग स्टार सिंगिंग शो के प्रथम सीजन में भाग लिया था और शो की फाइनलिस्ट थी। फिलहाल वे यूट्यूब और फेसबुक के माध्यम से अपने छोटे भाईयों के साथ भारतीय संगीत को लोगों तक पहुंचा रही हैं। 

 

यहाँ सुनिए मैथिली ठाकुर द्वारा गाया गढ़वाली मांगल गीत : दे द्यावा बाबा जी, कन्या को दान हे।

 

 यहाँ भी पढ़ें :

कुमाऊं का विवाहोत्सव निमंत्रण गीत - सूवा रे सूवा, बणखंडी सूवा।

Previous Post Next Post